कोर्ट का बड़ा फैसला मंदिर मस्जिद में अब नहीं इस्तेमाल किए जायेंगे ऊँच ध्वनि वाले…

mandir2

न्यूज़ डेस्क: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद हाइकोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है. बिजनौर में ध्वनि प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए इलाहाबाद हाइकोर्ट ने मंदिर-मस्जिद से लाउडस्पीकर हटाने का कड़ा आदेश दिया है. इलाहाबाद हाइकोर्ट ने यह फैसला शाह अलीपुर अब्दुल सत्तार मदनपुर गांव के संत रविदास मंदिर से लाउडस्पीकर की तेज आवाज के आने कि वजह से ली गयी है. कोर्ट में इस मंदिर के तेज़ लाउडस्पीकर को लेकर याचिका डाली गयी थी. जिसपर कोर्ट ने सरकारी वकील को निर्देश दिया कि वह लाउडस्पीकर हटवाकर कोर्ट को सूचित करे.

यह फैसला चीफ जस्टिस डी.बी.भोसले व जस्टिस एम.के.गुप्ता की खण्डपीठ ने शौकत अली की याचिका पर दिया है. इस याचिका में दिर पर लगे स्पीकर से हो रहे ध्वनि प्रदूषण पर रोक लगाने की मांग की गई थी. इस याचिका में मस्जिद में 5.48 बजे सुबह अजान व रविदास मंदिर में सुबह 6.24 बजे आरती की बात को कही गयी थी.

कोर्ट धारा 133 द.प्र.सं. के तहत कार्रवाई कर रही है और मंदिर के अलावा आबिद मस्जिद सदर को भी नोटिस दे दिया गया है. नियम के मुताबिक अधिक ध्वनि में स्पीकर को बजाना अपराध है.

यह भी पढ़ें:

विधानसभा सत्र के पहले दिन विपक्ष योगी सरकार को घेरने को तैयार हंगामेदार हो सकता है सत्र

योगी सरकार में शुरू हुआ घोटाले का सिलसिला उजागर हुआ बड़ा घोटाला

फर्जीवाड़ा कर बसपा प्रत्याशी ने जीता निकाय चुनाव हुआ पर्दाफास


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.