अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी के नाम से जाना जा सकता है सपा का यह खेमा!

akhilehsh-and-mulayam


लखनऊ: समाजवादी पार्टी अब टूटने के कगार पर आ खड़ी हुई हैं. पार्टी में सुलह पर कोई भी बात बनती नहीं दिख रही है. ऐसे में सपा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के अलग अलग खेमे में बंट चूकी है. अब बस सबको 13 जनवरी का इंतजार है. क्योंकि चुनाव आयोग इसी दिन सपा के चिन्ह साईकिल पर अपना फैसला सुनाने वाला है. जिस पर दोनों खेमा अपनी अपनी दावेदारी पेश कर रहा है. हालांकि दोनों गुट को साईकिल जब्त होने का डर भी सता रहा है.

ऐसे यह कहा जा रहा है कि जहां मुलायम लोकदल के निशान को अपना सकते है. तो वहीं अखिलेश खेमा भी दुसरे दल का गठन कर सकता है. कहा जा रहा रहा है कि अखिलेश खेमा ‘अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी’ का निर्माण कर की ‘मोटरसाइकिल’ चुनाव चिन्ह की मांग आयोग के कर सकता है. मुलायम सिंह यादव ने अपने एक बयान में यह कहा भी है कि रामगोपाल अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बना रहे हैं. वे पार्टी के लिए मोटरसाइकिल चुनाव चिह्न मांग रहे हैं. इससे भी उम्मीद किया जा सकती है कि अखिलेश गुट का नाम भी वही हो सकता है क्योकि रामगोपाल इस खेमे के सबसे बड़ी सिपाही है.

जहां तक चुनाव निशान की बात है तो ऐनडी टीवी के मुताबीक इस मामले में अखिलेश गुट के एक युवा नेता ने यह बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा, ‘2012 के चुनावों से पहले अखिलेश ने अपने अभियान के दौरान सैकड़ों किमी की यात्रा कर पार्टी के चुनाव निशान साइकिल को फिर से बेहद लोकप्रिय बनाया. अब यदि हमको वह निशान नहीं मिलता है तो हम चुनाव आयोग से मोटरसाइकिल देने की गुजारिश करेंगे. इसका ग्रामीण यूपी के लिहाज से एक प्रतीकात्‍मक अर्थ भी होगा कि अब विकास के कार्यों को तेज गति दी जाएगी.’


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.